Monthly Archives: April 2011

The simplest and effective way to progress – विकास का सरल-कारगर तरीका

समुदाय की प्रगति कैसे हो सकती है इसके बारे में बाबा फकीर चंद के साहित्य से और रोंडा बर्न की पुस्तक ‘The Secret’ से जो पढ़ा-जाना है उसके अनुसार हमारे समुदायों की प्रगति और विकास का सरल और कारगर तरीका … Continue reading

Posted in Development | 4 Comments

National Sarv Meghvansh Mahasabha – राष्ट्रीय सर्व मेघवंश महासभा का दिल्ली में सेमीनार

दिनाँक 10 अप्रैल 2011 को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में राष्ट्रीय सर्व मेघवंश महासभा (इंडिया) ने एक सेमीनार का आयोजन किया जिसमें इस विषय पर विचार-विमर्ष कया गया कि मेघवंश को एक सूत्र में कैसे पिरोया जाए जो अनेक नामों … Continue reading

Posted in मेघसेना, राष्ट्रीय मेघवंश महासभा | 8 Comments

Asuras

Asuras are lovable people living in India and that too in abundance. Here is an interesting story of Asuras, now most popularly known as Mulnivasis (SCs, STs and OBCs) of India. I am thankful to Mr. Sandeep (from Jaipur) who … Continue reading

Posted in Asura | 12 Comments

Bhagat Mahasabha held National Megh Confefence – भगत महासभा ने राष्ट्रीय मेघ सम्मेलन का आयोजन किया

भगत महासभा ने एक राष्ट्रीय मेघ सम्मेलन 10-04-2011 को रॉयल पैलेस, जालंधर में प्रातः 11.00 बजे आयोजित किया. भगत महासभा द्वारा मेघ समुदाय में एकता बढ़ाने के प्रयासों के तहत यह विभिन्न राज्यों में लगभग एक वर्ष में किए गए … Continue reading

Posted in भगत महासभा | 5 Comments

Kabir: A simple and pious personality – कबीर – एक सादा शुद्ध स्वरूप

कबीर के बारे में बहुत भ्रामक बातें साहित्य में और इंटरनेट पर भर दी गई हैं. अज्ञान फैलाने वाले कई आलेख कबीरधर्म में आस्था, विश्वास और श्रद्धा रखने वालों के मन को ठेस पहुँचाते हैं. यह कहा जाता है कि … Continue reading

Posted in कबीर | 5 Comments

IMPACT OF AMBEDKARISM

(Contributed by Rattan Lal Gottra, 72-L/A, Model House, Jalandhar) The Constitution of India drafted by Dr. B.R. Ambedkar is generally said to have been shaped on the Western Model. But, in fact, it can also be described as ‘first and … Continue reading

Posted in Ambedkar | 2 Comments