Monthly Archives: October 2011

Gynecologists and astrologers with Dirty hands – प्रसूतिशास्त्रियों और ज्योतिषियों के गंदे हाथ

It was one fine morning when I was born at 4 O’clock on January 13, 1951 in a government hospital in Ferozepur. My horoscope was prepared by the then priest of Durgiana Temple in Amritsar. I am very much impressed … Continue reading

Posted in रचनात्मक | 10 Comments

धर्म-भक्ति और युवा

फ़ेसबुक पर कबीरपंथियों के एक ग्रुप में चर्चा चल रही थी. उसमें एक युवा ने लिखा था: –“जो भी इंसान कबीर साहब को मान रहा है, उसकी ड्यूटी है कि वो कबीर जी के शब्दों का पालन करे, अदरवाइज़ टोटली वेस्ट … Continue reading

Posted in रचनात्मक | 18 Comments

Happy Deepawali MEGHnet

Posted in रचनात्मक | 12 Comments

Who is lucky? लक्की कौन?

कई वर्ष पहले की बात है कि पटना हवाई अड्डे पर दो जापानियों ने सिगरेट की प्यास बुझाने के लिए जहाज़ की दुम (सबसे पीछे की सीटों) में जगह माँगी जो उन्हें मिल गई. उड़ान के कुछ ही मिनटों के … Continue reading

Posted in रचनात्मक | 15 Comments

Qaddafi (Gaddafi) and Saddam loved India – ग़द्दाफ़ी-सद्दाम भारत से प्रेम करते थे

What is happening to globe? It was Saddam, and now it is Gaddafi. There are no regrets except one. Saddam had two sons named Uday and Qusay. Uday is Hindu (Sanskrit) name. I have heard that Saddam was emotionally attached … Continue reading

Posted in रचनात्मक | 8 Comments

Team Anna – टीम अन्ना

टीम अन्ना घिर गई प्रतीत होती है. कुछ सदस्य छिटक कर दूर चले गए. उधर प्रशांत भूषण पर हिंसात्मक हमला, अरविंद केजरीवाल पर चप्पल से हमला, किरण बेदी के विरुद्ध आरोप और अन्ना हज़ारे को सरकार (आईबी) की चेतावनी कि … Continue reading

Posted in Anna Hazare | 7 Comments

Buddha, Khajuraho and capital punishment – बुद्ध, खजुराहो और मृत्युदंड

बुद्ध महेश वत्स मेरे सहकर्मी रहे हैं. एक दिन कहने लगे कि खजुराहो के मंदिर इस लिए बनवाए गए क्योंकि बौध धर्म के आने के बाद बहुत से लोग सांसारिक जीवन से दूर भागने लगे थे और उन्हें संसार की … Continue reading

Posted in रचनात्मक, Buddha, Khajuraho | 20 Comments