Monthly Archives: June 2012

My spy, my pride – मेरा जासूस, मेरी नाक

जासूसी जीवन का अँधेरा पक्ष है. बड़ी खुशी है सुरजीत सिंह कि तुम रोशनी में लौट आए. मोहन लाल भास्कर पाकिस्तान में जासूस था. कोट लखपत की जेल के अँधेरे में अमानवीय यात्नाओं से तंग आ चुका मोहन जेलर को … Continue reading

Posted in रचनात्मक, Spy | 16 Comments

His Holiness Swami Bapu Baba – पूज्य स्वामी बापू बाबा

सोचता हूँ कि मैं ब्लॉगर न होता तो स्वनामधन्य बाबा होता. सैंकड़ों फॉलोअर नहीं बल्कि लाखों चेले होते. बहुत से कमेंट नहीं, बहुत से नोट होते. चप्…चप्… आजकल बहुत से बाबा टीवी पर हैं. मोटी रकम बनती है. इनमें से … Continue reading

Posted in धर्म, बाबा, रचनात्मक, Baba | 16 Comments

Lizard, my friend – छिपकली मेरी सहेली

लोग छिपकली से बहुत डरते हैं और छिपकली उनसे. कुछ इसे बहुत उपयोगी मानते हैं. पर्यावरणविद कहते हैं कि घर में मकड़ी, छिपकली, काक्रोच और चूहों को प्रेम पूर्वक रखना चाहिए. ये आपके घर के कोनों की सफाई का ऐसा … Continue reading

Posted in रचनात्मक, Environment, Lizard | 29 Comments

BJP and Megh – भाजपा और मेघ

पिछले 65 वर्षों से मेघवंशी कांग्रेस को माँ मान कर उसके चरणों में लोटते रहे हैं. अंग्रेज़ों से सत्ता हस्तांतरित होकर कांग्रेसियों के पास आने के कारण और उस समय कांग्रेस का सशक्त विकल्प न होने के कारण कोई अन्य … Continue reading

Posted in मेघ, मेघवंश, राजनीति, लोकतंत्र, BJP, Megh Politicians, Meghvansh | 8 Comments

Lost brother of Meghvanshis – Banjara (Gypsies, Roma) community – मेघवंशियों का गुमनाम बिरादर – बंजारा (जिप्सी, रोमा) समुदाय

ऐसे संकेत मिले हैं कि बंजारे और ख़ानाबदोश (Gypsies and Roma) सिंधुघाटी सभ्यता की ही मानव शाखाएँ हैं. बाहरी आक्रमणों के बाद ये लोग भारत के दक्षिण में भी फैले और यूरोप में स्पेन आदि देशों में भी गए. ऐसा … Continue reading

Posted in Banjara, Gypsy, Meghvansh, Roma | Leave a comment

Megh community felicitates Bhagat Chuni Lal – मेघ समुदाय ने भगत चूनी लाल का नागरिक अभिनंदन किया

ऑल इंडिया मेघ सभा, चंडीगढ़ ने 17 जून, 2012 को अंबेडकर भवन, सैक्टर-37, चंडीगढ़ में मेघ भगत परिवारों का एक गेटटुगेदर आयोजित किया जिसमें भगत श्री चूनी लाल, माननीय मंत्री लोकल बॉडीज़ और मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पंजाब सरकार का … Continue reading

Posted in AIMS, ऑल इंडिया मेघ सभा चंडीगढ़, सूचनाएँ | 2 Comments

A homoeopathic success story via Dr. Dinesh Sahajpal – एक होमियोपैथिक सफलता की कहानी बाज़रिया डॉ. दिनेश सहजपाल

पूरा परिवार होमियोपैथों का था. कोई डिग्रीधरी, कोई आरएमपी और कोई उनका अधीनस्थ. फिर भी होनी यह हुई कि 30 वर्ष पहले उनकी एक बहु को हिस्टीरिया हो गया. कड़वी ज़बान उग आई, सनकी हो गई और बेशर्मी की हरक़तें … Continue reading

Posted in Homeopathy | 14 Comments