Monthly Archives: August 2013

Rupee – रुपया

बिना रक्त के रक्तपात !! MEGHnet Advertisements

Posted in Other | 1 Comment

His Holiness – पवित्र विभूति

हिज़ होलीनेस, पवित्र विभूति जी महाराज के विरुद्ध कुछ कहना आम आदमी के लिए जान पर खेलने के बराबर है. भगवान पर विश्वास जमाने के लिए पाखंड जगाना पड़ता है और, हालाँकि, पवित्र विभूति द्वारा हत्या या बलात्कार करना अलग … Continue reading

Posted in His Holiness | 1 Comment

Meghvansh – Itihas Aur Sankriti – मेघवंश – इतिहास और संस्कृति

अगर कनिष्क वासुदेव, मिनांडर, भद्र मेघ, शिव मेघ, वासिठ मेघ आदि पुरातात्विक अभिलेखांकन व मुद्राएँ न मिलतीं, तो इतनी अत्यल्प जानकारी भी हम प्राप्त नहीं कर सकते थे. चूँकि बौध धर्म ही उस समय भारत का धर्म था और संपूर्ण … Continue reading

Posted in Megh History | 7 Comments

Meghvansh Society in J & K and Punjab – जम्मू-कश्मीर व पंजाब में मेघवंश समाज

पंजाब व जम्मू–कश्मीर में भी मेघवंश समाज की बड़ी संख्या है. जो मेघ व भगत कहलाते हैं. जम्मू–कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में मेघ कबीलों के लोगों के पूर्वज बौद्ध परंपराओं के अनुयायी व कबीरपंथी थे. पहले ये जनजाति में गिने … Continue reading

Posted in History, Megh History | 4 Comments

कबीर के बारे में बहुत भ्रामक बातें साहित्य में भर दी गई हैं. अज्ञान फैलाने वाले कई आलेख कबीरधर्म में आस्था, विश्वास और श्रद्धा रखने वालों के मन को ठेस पहुँचाते हैं. यह कहा जाता है कि कबीर किसी विधवा … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

History of Meghs is being consolidated – हो रहा है मेघ इतिहास का समेकन

राजस्थान के मेघ(वाल) लेखक इस सवाल के जवाबों के साथ उपस्थित हो गए हैं कि हमारे शासक पुरखे कौन थे. इतिहासकारों की खोज को उन्होंने अन्य लोगों तक छोटी और संक्षिप्त पुस्तकों के रूप में पहुँचाया है. मेघों का इतिहास … Continue reading

Posted in History, Megh History | 5 Comments

History of Meghwals – मेघवाल समाज का गौरवशाली इतिहास

समीक्षा नोट – पुस्तक के अग्रेषण पत्र पर आधारित भारत का अधिकतर लिखित इतिहास झूठ का पुलिंदा है जिसे धर्म के ठेकेदारों और राजा रजवाड़ों के चाटुकारों ने गुणगान के रूप में लिखा है. इसमें आज की शूद्र जातियों के … Continue reading

Posted in Meghvansh | 4 Comments