Monthly Archives: November 2013

Whom do you feed – आप किसे पुष्ट करते हैं

एक वृद्ध मेक्सिकन इंडियन ने अपने पोते को एक कथा सुनाई. हर इंसान में दो भेड़िये होते हैं. एक अच्छा होता है, एक बुरा. जो बुरा होता है वो गफलत में रहने वाला, क्रोधी, अहंकारी, दूसरों को धोखा देने वाला, झूठ पर पलने और फलने वाला होता है. दूसरा … Continue reading

Posted in Morals | Leave a comment

Meghs of J&K-2

जम्मू कश्मीर हिमाचल प्रदेश और पजाब के कई भूभाग सन 1900 के आस पास chamba state में शामिल थे। रावी और चंद्रभागा नदियों के कारण यह महतवपूर्ण क्षेत्र था। उन्नीसवी शदी के अंत में अंग्रेजों ने इस भूभाग का विस्तृत … Continue reading

Posted in Megh History | Leave a comment

Megh and Magh – मेघ और मघ

प्राचीन मेघ/मघ राजाओं के बारे में इतिहासकारों का क्या कहना है इसके बारे में ताराराम जी ने कल फोटो भेजे थे. आज उसी सामग्री को टाइप करा कर ईमेल से भेजा है. एस.एन. राय द्वारा संजोई सामग्री का हिंदी अनुवाद … Continue reading

Posted in Megh, Megh Bhagat | Leave a comment

Megh Emperors – मेघ सम्राट

प्राचीन मेघ राजाओं के बारे में इतिहासकारों का क्या कहना है इसके बारे में ताराराम जी ने फोटो भेजे थे. इसमें एक पुस्तक– ‘भारतवर्ष का अंधकारयुगीन इतिहास‘ (पृष्ठ 161) की फोटोप्रति भी इसमें शामिल थी. यह पुस्तक प्रो. काशी प्रसाद … Continue reading

Posted in Megh, Megh History | Leave a comment

Religion of Meghs – A deliberation – मेघों का धर्म- एक चिंतन

मेघ समुदाय में मेघों के धर्म के विषय पर कुछ कहना टेढ़ी खीर है. यदि किसी को अपने धर्म के बारे में ठीक-ठीक नहीं मालूम तो आप उससे क्या अपेक्षा रखेंगे. यह विषय गहन गंभीर है क्योंकि- (1) धर्म व्यक्ति की नितांत व्यक्तिगत … Continue reading

Posted in Meghs, Religion | Leave a comment