Category Archives: निर्मल बाबा

Beyond the principles of profession – धंधे के उसूलों से परे

15-20 दिन पहले मैंने एक निर्मल बाबा को अपने सोशल नेटवर्क अकाऊँट से बाहर किया था. पता नहीं वह कौन था. लेकिन आजकल एक निर्मल बाबा चर्चा में हैं. अस्तु. बाबा लोगों का कारोबार मूलतः ‘चर्चा’ से चलता है. लोग … Continue reading

Posted in धर्म, निर्मल बाबा, रचनात्मक | 4 Comments