Category Archives: पौराणिक संकेत

What happened to Bhakta Prahlada – मेघवंशी प्रह्लाद भक्त का क्या हुआ

‘भक्त’का मूल अर्थ है जो अलग हो चुका है. किससे अलग हुआ यह संदर्भ के अनुसार है. हिरण्यकश्यपु (असुर या अनार्य) के पुत्र प्रह्लाद को भक्त के तौर पर बहुत महिमा मंडित किया गया है. भारतीय पौराणिक कथाओं (Indian Mythology)में … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, प्रह्लाद | 16 Comments

Myth of Mahabali (Maveli बलि) – राजा महाबली का मिथ

राजा महाबली – चित्र विकिपीडिया के साभार राजा बली को केरल में ‘मावेली’ कहा जाता है. यह संस्कृत शब्द ‘महाबली’ का तद्भव रूप है. इसे कालांतर में ‘बलि’ लिखा गया जिसकी वर्तनी सही नहीं जान पड़ती.  राजा बली की कथा … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, राजा बली, Origins | 10 Comments

जीवों की आदि सृष्टि

जीवों की आदि सृष्टि विषयक कथाएँ (सुनी-सुनाई) प्रत्येक समुदाय में चली आ रही हैं. कुछ पात्रों के नाम तद्भव हैं और कुछ के तत्सम् चल रहे हैं. राजस्थान के मेघवंशियों में जो परंपरागत जानकारी उपलब्ध है उसे श्री गोपाल डेनवाल … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, Origins | 3 Comments

Maveli (राजा बली) is remembered by Meghvanshis in Kuchchh-Gujrat

This was the feedback I received from Gujrat (Kuchchh) as a comment on one of the articles. This deserved to be taken as proper input.: “Thank you, Bharat Bhushan, for raising historical topic relating to identity of Meghwal identity. As … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, राजा बली, Origins | 5 Comments

Balijan Cultural Movement बलीजन सांस्कृतिक आंदोलन-2

मैंने शीर्षक में ही ‘बलि’ को ‘बली’ लिखा है. ऐसा मैंने जानबूझ कर किया है. विश्वस्त हूँ कि ऐसा करके ग़लती को ठीक कर रहा हूँ. क्योंकि बलि होना किसी का शौक या हॉबी नहीं हो सकती. वर्ष जून 2010 में जम्मू में भगत महासभा … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, राजा बली, Origins | 5 Comments

Meveli belongs to India and Meghvansh

I received few phone calls from N.Delhi, Indore, Jaipur and other places. None of the callers questioned relationship of Maveli and Meghvansh (Maveli belongs to Meghvansh) rather they were aware of it. The Balijan Cultural Movement retells the mythical story … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, राजा बली, Origins | 2 Comments

Balijan (बलिजन) Cultural Movement

Recently I had written a post regarding Meveli and Onam. Now I got some additional information through further search. Folk culture never dies. It forms basis for many religions, schools of thoughts, political thoughts etc. The myth of King Bali has … Continue reading

Posted in पौराणिक संकेत, राजा बली, Origins | Leave a comment